बॉलीवुड सुपर स्टार अजय देवगन की गिनती बॉलीवुड के उन सितारों में होती है जो हर सामाजिक मुद्दे को लेकर संजीदा रहते हैं, उन पर अपनी राय भी रखते हैं, उनकी छवि बेहद साफ-सुथरी है। बावजूद इसके हाल ही में तनुश्री दत्ता ने अजय देवगन को लेकर सवाल उठाए थे और अजय की अपकमिंग फिल्म दे दे प्यार दे में उनके आलोक नाथ के साथ काम करने को लेकर काफी बातें कही थीं। अजय देवगन ने अब जवाब दिया है और उनकी बात में दम भी है।

दरअसल तनुश्री दत्ता का कहना था कि आलोक नाथ पर आरोप लगे थे ऐसे में अजय देवगन को अपनी फिल्म से आलोक नाथ को हटा देना चाहिए था और उन हिस्सों को फिर से शूट कराना चाहिए था।

अजय देवगन ने इन आरोपों पर कहा है कि जब मीटू अभियान चल रहा था तब उन्होंने अपने बॉलीवुड के कई सहयोगियों के साथ कहा था वो वर्क प्लेस पर हर एक महिला का सम्मान करते हैं और उनके खिलाफ किसी भी तरह के भेदभाव या शोषण का समर्थन नहीं करते।

अजय देवगन ने कहा कि जहां तक आलोक नाथ के साथ फिल्म दे दे प्यार दे में काम करने की बात है तो फिल्म की शूटिंग पिछले साल सितंबर में ही पूरी हो चुकी थी। आलोक नाथ के साथ शूटिंग मनाली में अगस्त में ही हो गई थी, जबकि उन पर मीटू अभियान में आरोप अक्टूबर 2018 में सामने आए।

इस वक्त में फिल्म से जुड़े ज्यादातर कलाकार अपने अगले प्रोजेक्ट्स में काम करना शुरू कर चुके थे और सभी को एक साथ लेकर फिर से उन सीन्स की शूटिंग करना लगभग असंभव था क्योंकि सबको फिर से 40 दिन के लिए दोबारा शूट के लिए इकट्ठा करना डेट्स की वजह से मुमकिन नहीं था। सिर्फ इतना ही नहीं ऐसा करने में प्रोड्यूसर का भारी-भरकम खर्च भी हो जाता।

बताते चलें कि फिल्म दे दे प्यार दे 17 मई को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म के ट्रेलर को दर्शकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है।