अजय देवगन ने कुछ ही हफ्तों पहले फिल्म मेकर बोनी कपूर और अमित शर्मा के साथ एक फिल्म साइन की थी, ये फिल्म मशहूर फुटबॉल कोच सैयद अब्दुल रहीम की बायोपिक है और अब फिल्म की तैयारी शुरू हो चुकी है। मेकर्स अपनी तैयारी कर रहे हैं और उधर अजय देवगन इसके लिए अपनी तैयारी करने वाले हैं और जल्दी ही आप उनके बात करने के लहजे में बदलाव देख सकते हैं।

लवरंजन की शूटिंग से फ्री होने के बाद अजय देवगन बोनी कपूर की फिल्म की तैयारी में लगेंगे और फुटबॉल कोच सैयद अब्दुल रहीम की बायोपिक के लिए वो हैदराबादी हिंदी सीखेंगे। महमूद की फिल्मों के जरिए आप हैदराबादी हिंदी को अच्छी तरह से जानते-पहचानते हैं ही और अब इसी तरह की हिंदी अजय देवगन अपनी नई फिल्म में बोलेंगे।

फुटबॉल कोच सैयद अब्दुल रहीम  हैदराबाद के थे, इसीलिए इस फिल्म में अपने कैरेक्टर को रियल टच देने के लिए अजय देवगन हैदराबादी हिंदी और उर्दू सीखेंगे। सैयद अब्दुल रहीम, भारत के सबसे बड़े फुटबॉल कोच में से एक माने जाते हैं। 1951 से 1962 के बीच उनकी कोचिंग में भारतीय फुटबॉल टीम काफी अच्छा परफॉर्म कर रही थी। खबरें हैं कि इस फिल्म में कोच और उनकी टीम के साथ रिश्तों पर खास फोकस होगा।

इस फिल्म के जरिए अजय देवगन और बोनी कपूर 16 साल बाद साथ आ रहे हैं। खेल पर आधारित बायोपिक होने से इस फिल्म की तुलना चक दे इंडिया और अक्षय कुमार की अपकमिंग फिल्म गोल्ड से भी होगी, इसीलिए अजय देवगन अपनी तरफ से इस फिल्म में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं और किरदार को बिल्कुल रियल टच देना चाहते हैं, हैदराबादी हिंदी सीखना इसी दिशा में एक कदम है।